Tuesday, 15 May 2018

Freedom story of the day!

Sharing an amazing freedom story

My name is Avinash Choukate, age 46 yrs from Kothrud, Pune
I am a Mechanical Engineer, working in an automobile company.














When I joined 39th intensive batch  my HBa1c was 9
I was taking medicine 2 tablets of Glycomet 250 since last 8 months. 
I am diabetic from last 7 years & during this period I tried 
homeopathy & ayurvedic treatment as I wanted to follow holistic 
path & not pure allopathy. BUT IT DIDN'T WORK!


At last one homeopathy doctor from Ahmednagar suggested me 
to join Dr Pramod Tripathi's FFD program. On 3rd of March I joined 
39 batch & today I am overhelmed to declare that I am free from 
medicine. Actually words are very short to express my feelings.

Before joining the program, my weight was 78 kg & as of today, 
I have reduced 3.5 kg. Sincerely thankful to Dr Pramod Tripathi Sir, 
Dr Manishaji, Mentor Satishji & FFD team for encouraging, 
guidance & support.

I know I have just passed one step & there is much more to do further. 
But I am confident to go ahead with the support of entire FFD team. 

Thanks again!
- - -
More details and next program registration on
The Freedom From Diabetes website
http://www.freedomfromdiabetes.org/Register…
Contact: Dr Pramod Tripathi office 7776077760
- - -
आजची मुक्ती कथा
मेरा नाम अविनाश चौकटे, उम्र 46 वर्ष कोथरुड, पुणे से। मैं एक मैकेनिकल इंजीनियर हूँ, और  एक ऑटोमोबाइल कंपनी में काम कर रहा हूँ।

जब मैं Intensive बैच 39  में शामिल हुआ तो मेरा HBA1C - 9 था। मैं पिछले 8 महीनों से ग्लाइकोमेट 250 के 2 टेब्लेट ले रहा था। मैं पिछले 7 सालों से मधुमेही हूँ और इस अवधि के दौरान मैंने होमिओपैथी और आयुर्वेदिक उपचार की कोशिश की क्योंकि मैं होलिस्टिक पथ का पालन करना चाहता हूँ, ॲलोपॅथी नहीं

लेकिन इससे  काम नहीं बना। आखिरमें  अहमदनगर के एक होमिओपैथी डॉक्टर ने मुझे डॉ. प्रमोद त्रिपाठी के FFD कार्यक्रम में शामिल होने का सुझाव दिया।

3 मार्च को मैं 39 बैच में शामिल हो गया और आज मैं यह घोषणा करने के लिए अभिभूत हूँ कि मैं दवा से मुक्त हूँ। दरअसल शब्द मेरी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए बहुत कम हैं।

कार्यक्रम में शामिल होने से पहले, मेरा वजन 78 किलो था और अब मेरा वजन  3.5 किलोसे कम हो गया।

डॉ. प्रमोद त्रिपाठी महोदय, डॉ. मनिषाजी, सलाहकार सतीशजी और सभी FFD टीम को प्रोत्साहित करने, मार्गदर्शन और समर्थन के लिए आभारी हूँ।

मुझे पता है कि मैंने मुक्ति की ओर एक कदम बढ़ाया है। लेकिन अब आत्मविश्वास बढ़ गया है, क्योंकि FFD की पूरी टीम साथ है। एक बार फिर धन्यवाद। 



No comments:

Post a Comment